व्यापार मंत्र

बिज़नेस शुरू करने की 6 मुख्य बाधाओं का सामना कैसे करें – Learn to Face 6 Main Hurdles

शेयर करें:-
  • 10
  •  
  •  
  •  
  •  
  • 1
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    11
    Shares

आज कल बहुत से लोग अपना बिज़नेस शुरू करना चाहते हैं और सबके मन में एक-दो बिज़नेस आइडिया तो होते ही हैं परन्तु ऐसे लोग कम हैं जो अपने मन के विचार को दुनिया के सामने एक बिज़नेस के रूप में ला पाते हैं. बिज़नेस की इच्छा रखने वालों को Wannapreneur (Wanting to be Entrepreneur) कहा जाता है जो हर समय बिज़नेस करने के बारे में सोचते रहते हैं परन्तु उसे शुरू करने की बाधाओं से डरते हैं. सिर्फ मन में इच्छा रखना और वास्तविक रूप में अपना व्यापार शुरू करने के बीच का सफ़र इन बाधाओं को पार करके ही तय किया जा सकता है. आइये इन बाधाओं की चर्चा करें और उन्हें दूर करने के उपाय ढूंढें.

Main Hurdles of Starting a Business  

 

1- कहाँ से शुरू करूँ : Where to Start from

बिज़नेस शुरू करने से जुड़े बहुत सारे छोटे-बड़े कामों की वजह से शुरुआत करना कठिन लगने लगता है. आप के मन में बहुत से प्रश्न उठते हैं और हजारों तरह की बातें पता चलती हैं जिससे पहला कदम सुनिश्चित कर पाना मुश्किल हो जाता है. किसी भी बड़े काम को शुरू करने का कोई निश्चित फार्मूला नहीं होता और जरुरी नहीं कि अगर एक तरीका किसी के लिए कारगर साबित हुआ है तो वह आपके लिए भी सही होगा इसलिए अपने विचारों को नियंत्रित करते हुए एक फ्लेक्सिबल योजना बनाकर काम की शुरुआत कर देनी चाहिए. आप जैसे ही शुरू के कुछ कदम लेंगे तो आगे का रास्ता दिखने लगेगा और आपको गलतियाँ सुधारने का मौका भी मिलेगा. याद रखिये, बहुत ज्यादा दूर देखने की कोशिश मत करिए क्योंकि छोटे-छोटे कदम लेकर ही बड़ी दूरी आसानी से तय हो पाती है.

2- अनोखा बिज़नेस बनाने की इच्छा : Trying to Build Unique Business  

बहुत से लोग सिर्फ एक अनोखा बिज़नेस शुरू करने के बारे में ही सोचते हैं ताकि सफलता की संभावना ज्यादा रहे. बिज़नेस की सफलता उसके अनोखेपन से ज्यादा उसकी प्रासंगिकता (Relevance) और उपयोगिता (Usefulnes) पर निर्भर करती है. आपको हमारे इस वेबसाइट की प्रेरणादायक कहानियों में ऐसी बहुत सी कहानियाँ मिलेंगी जिसमें एक सामान्य आइडिया से ही बड़ा बिज़नेस बना है. अनोखेपन की तलाश में ज्यादा समय व्यर्थ ना करें और कोशिश करें कि एक व्यावहारिक (Practical) सोच के साथ आगे बढ़ा जाए.

3– आइडिया की उथल-पुथल : Chaos of Ideas

आइडिया को लेकर मन में महाभारत एक आम बात है. आप जब बिज़नेस शुरू करना चाहते हैं तो आपके मन में आइडिया का बाढ़ आ जाता है और अक्सर आप सोचते-सोचते भ्रमित होने लगते हैं. जो आइडिया शुरू में अच्छी लगती है उसको लेकर मन में शंका उठने लगती है और खासकर दूसरे लोगों से सलाह लेने पर उथल-पुथल और भी बढ़ जाती है. अपनी आइडिया को कहीं लिखकर सभी पहलुओं को सोचते हुए बिज़नेस प्लान बनाना चाहिए तथा विभिन्न बिंदुओं पर अच्छी जानकारी हासिल करनी चाहिए जिससे आपको धीरे-धीरे स्पष्टता मिलेगी. स्पष्टता होने के बाद अपने मन में आस्था रखते हुए अपनी चुनी हुई आइडिया को लेकर आगे बढ़िये.

4- पैसा कहाँ से आएगा : How to Raise Funds

बिज़नेस शुरू करने के लिए पैसों की जरुरत तो होती है परन्तु सिर्फ इस सोच से कि आपके पास पैसे नहीं हैं और आपको पता नहीं कि कहाँ से पैसों का इन्तजाम होगा, अपनी इच्छा और आइडिया को मरने देना ठीक नहीं है. आज के समय में पूँजी जुटाने के बहुत सारे स्रोत हैं परन्तु किसी को भी संपर्क करने से पहले आपका बिज़नेस प्लान काफी हद तक तैयार होना चाहिए और यदि आपने जमीनी स्तर पर कुछ काम कर लिया है तो शुरूआती पूँजी मिलने की संभावना बढ़ जाती है. याद रखिये, आपके दृढ़ संकल्प और स्पष्ट सोच से पूँजी जरुर मिलेगी परन्तु इस यात्रा में अनेक कोशिशों के बावजूद बहुत सारे जगहों से ‘ना’ मिल सकती है परंतु आपको बिना घबराए प्रयास जारी रखना चाहिए. बूटस्ट्रैपिंग की चतुर युक्तियों  को अपनाते हुए शुरुआत कर देने में भी समझदारी होगी क्योंकि ज्यादातर प्रोफेशनल इन्वेस्टर ऐसी शुरुआत से प्रभावित होते हैं और बिज़नेस में पूँजी लगाने के लिए जल्द ही राजी हो जाते हैं.

5- समय का अभाव: Lack of Time

यह कोई नई बात नहीं है कि हमें हमेशा समय का अभाव महसूस होता है. बिज़नेस की शुरुआत में यह निश्चित रूप से एक बाधा है क्योंकि जाहिर है आप पहले से ही बहुत व्यस्त हैं. जीवन के किसी भी क्षेत्र में सफलता मेहनत और चतुर सोच से ही मिलती है इसलिए आपको समझदारी से अपने बिज़नेस के शुरूआती कामों के लिए समय निकालना चाहिए. एक बात बिल्कुल स्पष्ट है कि आप जो समय अपने बिज़नेस की तैयारी में देंगे उसके बदले में आपको कुछ व्यक्तिगत कामों को छोड़ना पड़ेगा. आपके इस कदम से परिवार और मित्रों को भी बदलाव का सामना करना पड़ सकता है इसलिए खुलकर बात करके उनका सहयोग लेने की कोशिश करें.

6- असफलता का डर: Fear of Failure

किसी भी काम को शुरू करने से पहले असफलता का डर सबसे बड़ी बाधा बन सकता है. बिज़नेस करना आपके जीवन का एक अहम् कदम होता है इसलिए इस डर का आपके मन में आना स्वाभाविक है. ऐसे डर पर काबू पाना जरुरी होता है क्योंकि शुरुआत न करके आप पहले ही असफल हो जाते हैं. अगर आप शुरूआत ही नहीं करेंगे तो सफलता का तो कोई प्रश्न ही नहीं रह जाता बल्कि पूरी जिंदगी किनारे पर बैठकर दूसरों की सफलता के लिए तालियाँ बजाते रहेंगे. असफलता के डर से काम शुरू नहीं करना एक बहुत ही नकारात्मक सोच है और अपने मन के इस दानव को मारना जरुरी है. अपने आपको इस बात के लिए तैयार करिए कि असफलता के सारे कारणों को कैसे पहचाना जाए और उसको कैसे दूर किया जाए. चुनौतियों के आगे समर्पण कर देना असफलता है और उनका सामना करते हुए रास्ता निकाल लेना सफलता है.

कृपया इन उपायों को अपने मित्रों से जरुर शेयर करिये.

हमारे मेलिंग सूची के लिए सब्सक्राइब करें।

सब्सक्राइब करने के लिए धन्यवाद!

कुछ गलत हो गया..


शेयर करें:-
  • 10
  •  
  •  
  •  
  •  
  • 1
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    11
    Shares

कमेन्ट करें