व्यापार मंत्र

स्टार्टअप के लिए फ़रिश्ता होता है एंजल इन्वेस्टर (Angel Investor) – कैसे पायें इस फ़रिश्ते का हाथ और साथ

शेयर करें:-
  • 12
  •  
  •  
  •  
  •  
  • 1
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    13
    Shares

हर एक व्यवसाय को शुरू करने और आगे बढ़ाने के लिए पूँजी की आवश्यकता होती है। बिज़नेस के आकार, प्रकार और आयु पर निर्भर करता है कि पूँजी कम चाहिए या ज्यादा। वैसे तो पूँजी जुटाने के विभिन्न स्रोत हैं परन्तु एक स्टार्टअप के लिए एंजल निवेश (Angel Investment) शुरूआत के दिनों में आगे बढ़ने के लिए अच्छा स्रोत माना जाता है।

एंजल का मतलब फ़रिश्ता या देवदूत होता है और सही मायने में एक एंजल निवेशक फ़रिश्ते की तरह ही स्टार्टअप के प्रारम्भिक विकास में मदद करता है। जिस तरह हम अपने दैनिक जीवन में एक विश्वास के साथ खुशी से आगे बढ़ते हैं कि हमारी देखभाल कोई न कोई फ़रिश्ता या देवदूत कर रहा है और हमारे लड़खड़ाने या गिरने की स्थिति में वह ज़रूर हमारा हाथ थाम लेगा, ठीक उसी तरह एक स्टार्टअप का विश्वास अपने एंजल पर होता है और ज्यादातर एंजल निवेशक हाथ थामने में हिचकिचाते नहीं हैं।

अपने जीवन में फ़रिश्तों का साया अपने सर पर पाने और बनाए रखने के लिए हम अनेकों अनुष्ठान करते हैं। अपने धार्मिक विश्वास और उसकी मान्यताओं के अनुसार पूजा, अर्चना, नमाज़, प्रेयर इत्यादि करते हैं ताकि सही फरिश्तों का प्रभाव अपने जीवन में लाया जा सके और भूत-प्रेत जैसे बुरे सायों से बचा जा सके।

इसी तरह स्टार्टअप के लिए भी सही एंजल निवेशक का साथ होना आवश्यक है। सही जगह पर, सही तरीके से नहीं ढूँढने पर फ़रिश्ते निवेशकों की जगह बुरे निवेशकों का साथ मिलने का डर होता है और एक गलत निवेशक आपके स्टार्टअप जीवन के लिए घातक साबित हो सकता है।

चलिए स्टार्टअप धर्म के कुछ अनुष्ठान और मान्यताओं पर नजर डालते हैं जो अच्छे निवेशकों की तलाश में बहुत उपयोगी साबित होते हैं।

 

1 – उचित अनुभव वाले निवेशकों की सूची बनायें 

एंजल निवेशक का चुनाव सिर्फ उसके पैसे लगाने की इच्छा और क्षमता के आधार पर नहीं करना चाहिए। आपके बिज़नेस की समझ नहीं रखने वाले निवेशकों से पैसा पाना या पैसा मिल जाने के बाद सम्बन्ध निभा पाना काफी मुश्किल होता है।

एंजल निवेश का महत्व सिर्फ पैसे के दृष्टिकोण से नहीं बल्कि बिज़नेस को कई दूसरे तरीकों से बढ़ावा देने के दृष्टिकोण से होता है। आपके बिज़नेस क्षेत्र में सही अनुभव रखने वाले निवेशक आपके बिज़नेस की चुनौतियों को अच्छे से समझ सकते हैं और आपको सही रास्ता दिखा सकते हैं।

एंजल निवेशकों से संपर्क शुरू करने से पहले सही अनुभव वाले, स्टार्टअप समाज में अच्छी प्रतिष्ठा रखने वाले या आपके संपर्क में पहले से ही रहने वाले संभावित निवेशकों की सूची बनायें।

एंजल निवेशक पाने के लिए होली की पिचकारी तरह हर दिशा में रंग उड़ाने का तरीका (Spray & Pray Approach) ठीक नहीं समझा जाता है। अच्छी समझ के साथ बनाई हुई सूची के निवेशकों को सुनियोजित ढंग से संपर्क करें।

 

2 – निवेशकों से परिचय पायें 

चौराहे पर खड़े होकर अंधाधुंद फायरिंग करने से सिर्फ जान-माल का नुकसान होता है। इसी तरह बिना परिचय के सिर्फ इन्टरनेट, सोशल मीडिया या अन्य सार्वजनिक स्रोतों से संपर्क ई-मेल या फ़ोन नंबर लेकर अपनी बनाई हुई सूची के निवेशकों को आँख बंद करके ई-मेल भेजने या फ़ोन करने से शायद ही कोई फ़ायदा होगा।

संभावित एंजल निवेशकों से किसी मित्र, संस्था या सलाहकार के जरिये परिचय पाने की कोशिश करनी चाहिए। स्टार्टअप से सम्बंधित नेटवर्किंग कार्यक्रम भी एंजल निवेशक से परिचय पाने का अच्छा स्थान होता है।

यह भी पढ़ें : नए व्यापार में नेटवर्किंग (Business Networking) के फ़ायदे – सफलता का महामंत्र

यदि आप किसी अच्छे संपर्क सूत्र के जरिये मिलने जायेंगे तो निवेशक पहले से ही आपके बारे सोच कर मिलने का समय देगा और बातचीत काफी सौहार्दपूर्ण वातावरण में होगी। खुद निवेश नहीं कर पाने की स्थिति में ऐसे निवेशक आपको जरुर एक-दो अच्छे मित्रों से परिचय करा देंगे जो संभवतः आपके स्टार्टअप में रूचि दिखा सकते हैं।

 

3 – खुद के और निवेशक के समय का सम्मान करें

ज्यादातर संस्थापक अपने स्टार्टअप की आइडिया और उसके भविष्य को लेकर बहुत उत्तेजित रहते हैं जो एक अच्छी बात है। भावी एंजल निवेशक से पहली मीटिंग में अपनी उत्तेजना का प्रदर्शन नियंत्रित रूप से करें और अपने बिज़नेस प्लान को संक्षिप्त रखते हुए प्रभावी ढंग से प्रस्तुत करें।

ऐसे में एक अच्छी इन्वेस्टर पिच डेक बनाना बहुत जरुरी है।

यह भी पढ़ें : क्या आप व्यापार के लिए पूँजी जुटाना चाहते हैं ? सीखिए एक अच्छी इन्वेस्टर पिच डेक (Pitch Deck) बनाना

याद रहे कि पहली मीटिंग का मकसद निवेश का चेक पाना नहीं होता बल्कि निवेशक की रूचि आपके बिज़नेस में जगानी होती है ताकि निकट भविष्य में ठीक से चर्चा करने के लिए दूसरी मीटिंग मिल सके।

अपने और दूसरों के समय का सम्मान करने वाले लोग समाज में बहुत पसंद किये जाते हैं। एक निवेशक के लिए संस्थापक द्वारा समय का सम्मान किया जाना बहुत मायने रखता है क्योंकि ज्यादातर एंजल निवेशक बहुत व्यस्त रहते हैं।

4 –  अपनी बात अच्छे से रखें और आलोचना को सही तरीके से समझें 

ज्यादातर उद्यमी अपनी आइडिया ठीक से बताना भी नहीं चाहते क्योंकि उनको डर लगता है कि एंजल निवेश के स्तर पर अभी उनका बिज़नेस परिपक्व नहीं है और कहीं एंजल इन्वेस्टर उनकी आइडिया चुरा कर खुद ही बिज़नेस ना शुरू कर दे या किसी दूसरे से करवाने लगे।

ऐसी संभावनाएं ना के बराबर होती हैं क्योंकि निवेशक बनने के पीछे सबसे बड़ा उद्देश्य ही दूसरे उद्यमियों की सफलता में सहभागिता लेना होता है। किसी भी निवेशक के पास शायद ही इतना समय होता है कि वो दूसरों की आइडिया चुरा करके उस पर काम करे।

यह भी पढ़ें: अपने नए बिज़नेस आइडिया को चोरी होने से कैसे बचाएं?

किसी भी तरह की शंका मन में रख कर मीटिंग करने से अच्छा है कि खुले दिमाग से अपनी बात को रखा जाए और निवेशक द्वारा दिए जाने वाले हर एक फीडबैक या आलोचना को अच्छे से समझा जाए।

अनुभवी निवेशकों की आलोचना में बहुत ज्ञान छुपा होता है और एक चतुर संस्थापक उन आलोचनात्मक टिप्पणियों से सीख लेकर अपने बिज़नेस प्लान को मजबूत बनाने की कोशिश करता है।

 

5 – पैसे पाने के लिए उतावले ना हों, नहीं मिलने पर एक ही जगह चिपके ना रहें 

चाहे आपके बिज़नेस की अवस्था पैसे के अभाव में कितनी भी ख़राब हो रही हो, मीटिंग के दौरान ज्यादा उतावलापन दिखाना कभी भी आपके हित में नहीं होगा।

निवेशक अपने तरीके से जांच-परख करके ही पैसा लगाने को तैयार होगा। अगर एंजल निवेशक के परिप्रेक्ष्य से आपके स्टार्टअप में निवेश सही नहीं होगा तो आप चाहे जितना भी पैर पकड़ कर क्यों ना रोयें, आपको निवेश पाने में सफलता नहीं मिलेगी।

याद रखें, यदि आपको एक निवेशक के दरवाज़े से खाली हाथ लौटना पड़े तो उसके निर्णय का सम्मान करें और आगे बढ़ें। मजनू की तरह बार-बार संपर्क ना करें और अपनी बात अलग-अलग तरीके से रखने की कोशिश ना करें।

गलत तरीके से व्यवहार करने पर उस निवेशक के जरिये दूसरे निवेशकों को भी आपके बारे में पता चल जाएगा और आपके लिए अनेकों दूसरे दरवाज़े बंद हो सकते हैं।

अगर आपके बिज़नेस प्लान में सच्चाई है, उद्देश्य में सामाजिक उत्थान की सोच है और प्रयास में ईमानदारी है तो आपको फ़रिश्ता निवेशक जरुर मिलेगा।

आपको यह लेख कितना उपयोगी लगा? क्या आपके पास कोई एंजल इन्वेस्टर ढूँढने का अनुभव है? क्या आपने खुद कभी एंजल निवेश किया है?

कमेंट करके हमें ज़रूर बताएं और इस लेख को अपने मित्रों से शेयर करें।

हमारे मेलिंग सूची के लिए सब्सक्राइब करें।

सब्सक्राइब करने के लिए धन्यवाद!

कुछ गलत हो गया..


शेयर करें:-
  • 12
  •  
  •  
  •  
  •  
  • 1
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    13
    Shares

कमेन्ट करें