व्यापार मंत्र

भारत में फ्रोज़न खाद्य पदार्थों का व्यापार (Frozen Food Business in India) कैसे शुरू करें

शेयर करें:-
  • 7
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    7
    Shares

आजकल की भागदौड़ भरी ज़िन्दगी में कई बार खाना बनाना बड़ा मुश्किल काम लगने लगता है क्योंकि जितना समय खाना बनाने में लगता है उससे कहीं ज़्यादा समय तो खाना बनाने से पहले की तैयारियाँ करने में लग जाता है। ऐसे में फ्रोज़न फ़ूड (Frozen Food) यानि कि फ्रीज़ किये हुए खाद्य पदार्थ बहुत काम आते हैं। इनका प्रयोग करके खाना बनाने में आसानी होती है, पौष्टिकता भी मिलती है और समय भी कम लगता है। यही कारण है कि आजकल हर जगह frozen food products की माँग बढ़ती जा रही है।

फ्रोज़न फ़ूड की बढ़ती माँग, retail chains एवं fast food chains की संख्या में हो रही वृद्धि, छोटे शहरों की दुकानों और ग्रामीण क्षेत्रों में फ्रीज़र की बढ़ती उपलब्धता, फ्रोज़न फ़ूड का सरलता से उपलब्ध होना और लम्बे समय तक ठीक बने रहना, ऐसे बहुत से कारण हैं जिन्हें देखते हुए भारत में 2016-2021 के दौरान food industry में फ्रोज़न फ़ूड का व्यवसाय लगभग 15 प्रतिशत की compound annual growth rate (CAGR) से बढ़ने का अनुमान है।

वैसे तो इंसान हर चीज़ में कटौती कर सकता है लेकिन खाने में नहीं। इसलिए खाने से जुड़ा चाहे कोई भी व्यवसाय हो बाज़ार में उसकी माँग हमेशा बनी ही रहती है, बशर्ते उसका संचालन सही तरह किया जाये और ग्राहकों को उचित मूल्य पर बेहतर सेवा प्रदान की जाये।

अगर आप भी खाने से संबंधित कोई व्यापार (food business) करने का मन बना रहे हैं तो फ्रोज़न खाद्य पदार्थों (frozen food products) का व्यापार आपके लिए सबसे बेहतरीन विकल्प है। इसके लिए आपको कोई विशेष प्रशिक्षण नहीं लेना पड़ता और साथ ही इस व्यवसाय को आप शुरूआत में कम लागत में अपने घर से ही शुरू कर सकते हैं।

अब इतना सब कुछ जानने के बाद आपके मन में यह उत्सुकता होगी कि इस काम को शुरू कैसे किया जा सकता है तो आइये आज के व्यापार मंत्र में जानते हैं कि आप भारत में अपना ख़ुद का फ्रोज़न फ़ूड बिज़नेस (frozen food business) कैसे शुरू कर सकते हैं।

 लक्षित बाज़ार का विश्लेषण करें और बिज़नेस प्लान बनायें / Analyze the Target Market and Make a Business Plan

सबसे पहले अपने लक्षित बाज़ार से संबंधित सभी संभव जानकारियाँ इकठ्ठा करें। इससे आपको आपके चयनित व्यवसाय की बाज़ार में वास्तविक स्थिति, अपने लक्षित उपभोक्ताओं (target customers) की ज़रूरत और अपने प्रतिद्वंदियों की रणनीतियों को जानने और समझने में मदद मिलेगी।

साथ ही बाजार विश्लेषण (market research) की प्रक्रिया पूरी होने के बाद आप अपने व्यापार के लिए बेहतर योजना बनाने में भी सक्षम होंगे। इसलिए बेहतर होगा कि आप बाज़ार विश्लेषण के बाद ही अपना बिज़नेस प्लान (business plan) तैयार करें।

 उपयुक्त फ्रोज़न खाद्य पदार्थों का चुनाव करें / Choose the suitable food products

अगर आप फ्रोज़न खाद्य पदार्थों का व्यवसाय करना चाहते हैं तो आपके लिए दही, चिकन (poultry products), कटे हुए आलू, छिली हुई मटर, समुद्री भोजन (Sea Foods), सलाद, फलों का रस, सब्ज़ियाँ, डेयरी उत्पाद, मांस, कटी हुई सब्ज़ियाँ, नाश्ता आदि अनेकों विकल्प उपलब्ध हैं। बस आपको उनकी उपलब्धता और अपने लक्षित ग्राहकों की ज़रूरतों के अनुसार उपयुक्त विकल्पों का चुनाव करना होगा।

आपूर्तिकर्ताओं से संपर्क करें / Contact the Suppliers

एक बार जब आप उपयुक्त फ्रोज़न खाद्य पदार्थों के विकल्पों का चुनाव कर लेते हैं तो अगला चरण होता है उनकी आपूर्ति का प्रबंध करना। अपने क्षेत्र में फ्रोज़न फ़ूड की आपूर्ति करने वाले सभी suppliers से संपर्क करें। खाद्य पदार्थों की गुणवत्ता, आपूर्ति की व्यवस्था एवं मूल्य-दर आदि अन्य आवश्यक कारकों को ध्यान में रखते हुए उपयुक्त विकल्पों का चयन करें।

पूँजी की व्यवस्था करें / Arrange for fund

पर्याप्त पूँजी के अभाव में किसी भी व्यवसाय का सही तरीके से स्थापित हो पाना असंभव है। इसलिए सभी प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष अनुमानित ख़र्चों को जोड़कर उसके अनुरूप पर्याप्त पूँजी की व्यवस्था करें। इसके लिए सबसे पहले अपनी ख़ुद की पूँजी के प्रयोग को प्राथमिकता दें। अगर उससे सभी ख़र्चों की पूर्ति संभव ना हो पाए तो अन्य विकल्पों जैसे कि परिवारजनों, मित्रों, व्यापार ऋण (business loan), प्राइवेट निवेशक (private investor) अथवा एंजेल निवेशक (angel investor) की मदद लें।

आवश्यक संसाधनों की व्यवस्था करें / Arrange for necessary resources

फ्रोज़न खाद्य पदार्थों के व्यवसाय के लिए आवश्यक संसाधनों एवं उपकरणों का प्रबंध करें। साथ ही बिजली, पानी एवं अन्य मूलभूत सुविधाओं का भी ध्यान रखें। एक जनरेटर या इन्वर्टर की व्यवस्था ज़रूर करें क्योंकि फ्रोज़न खाद्य पदार्थों को सुरक्षित रखने के लिए आपके फ़्रीज़र का सुचारू रूप से चलना अत्यंत आवश्यक है।

अगर आपके पास कर्मचारियों को नियुक्त करने के लिए बजट न हो तो आप शुरूआत में काम की देखरेख के लिए अपने परिवार के सदस्यों की भी मदद ले सकते हैं।

अनिवार्य लाइसेंस एवं परमिट प्राप्त करें / Get all the necessary licenses and permits

भारत में अगर आप खाने से संबंधित कोई भी व्यापार शुरू करना चाहते हैं तो आपके लिए भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (FSSAI – Food Safety and Standards Authority of India) में पंजीकरण कराना और उससे लाइसेंस लेना अनिवार्य है।

इसलिए फ्रोज़न फ़ूड का business शुरू करने से पहले इससे संबंधित अनिवार्य लाइसेंस और परमिट के विषय में जानकारी जुटाएं। इसके बाद अपने क्षेत्र में इससे संबंधित विभाग से संपर्क करके सभी आवश्यक लाइसेंस और परमिट प्राप्त कर लें। अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो आपको क़ानूनी अड़चनों का सामना करना पड़ सकता है।

प्रचार के बिना व्यापार संभव नहीं / Advertise and Promote

आपके व्यापार की सफ़लता उसके प्रचार पर भी निर्भर करती है। जब आपके व्यवसाय के बारे में लोगों को पता ही नहीं चलेगा तो आपको ग्राहक कैसे मिलेंगे। इसलिए फ्रोज़न फ़ूड बिज़नेस की शुरुआत करते समय उसके प्रचार का भी विशेष ध्यान रखें। स्थानीय विज्ञापन सेवायें, होर्डिंग, पैम्फलेट, सोशल मीडिया आदि विभिन्न माध्यमों से आप अपने व्यवसाय का प्रचार कर सकते हैं।

ग्राहकों को बेहतर सेवा देने को तत्पर रहें / Ensure good service delivery

ग्राहक की संतुष्टि किसी भी व्यवसाय की सफ़लता का आधार है। इसलिए अपने ग्राहकों की ज़रूरतों को ध्यान में रखते हुए उन्हें बेहतर सेवा देने के लिए सदैव तत्पर रहें।

हम आशा करते हैं कि यह लेख आपको पसंद आया होगा। हमें अपने विचार जरुर लिखें।

हमारे मेलिंग सूची के लिए सब्सक्राइब करें।

सब्सक्राइब करने के लिए धन्यवाद!

कुछ गलत हो गया..


शेयर करें:-
  • 7
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    7
    Shares

कमेन्ट करें