व्यापार मंत्र

एक सफल बिज़नेस शुरू करने के 10 कदम – Starting a Business in 10 Steps in Hindi

शेयर करें:-
  • 13
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    13
    Shares

बिज़नेस शुरू करने के कुछ मुख्य लोकप्रिय कारणों में एक अनोखा बिज़नेस आइडिया (unique business idea), एक ऐसे जीवन की इच्छा जिसमें आपको फ्लेक्सिबिलिटी (flexibility) के साथ आत्मनिर्भरता से जीने का मौका और सामाजिक उत्थान में योगदान करने की इच्छा शामिल हैं. एक ठोस शुरुआत से सफल बिज़नेस की नींव पड़ती है इसलिए यह बहुत महत्वपूर्ण है कि आप सभी आवश्यक कदमों का पालन करें.

आत्मविश्वास के साथ उठाये गए इन 10 कदमों से आप अपने व्यापार की अच्छी शुरुआत कर सकते हैं.

Starting a Business in 10 Steps in Hindi

1: एक सही बिज़नेस आइडिया चुनें  – Find a Right Business Idea

आपको बिज़नेस आइडिया का चुनाव सिर्फ पैसे बनाने के दृष्टिकोण से नहीं करना चाहिए बल्कि आइडिया आपके अनुभव और व्यक्तित्व के हिसाब से उपयुक्त होनी चाहिए क्योंकि एक सफल बिज़नेस बनाने के लिए काफी समय और मेहनत की आवश्यकता होती है. बिज़नेस आइडिया के सफल स्रोत  हमारे आस-पास के जीवन से ही मिलते हैं.

बिज़नेस आइडिया की पहचान करने के बाद इसे वास्तविकता के साथ संतुलित करने की जरूरत होती है क्योंकि आइडिया सिर्फ एक कल्पना है और इसके सफल होने का आंकलन ‘सत्यापन प्रक्रिया’ (validation process) के माध्यम से किया जा सकता है.

एक बिज़नेस तब सफल होता है जब वह किसी समस्या का हल दे रहा हो, किसी ज़रूरत को पूरा करता हो या बाजार की मांग की पूर्ति करता हो. इन ज़रूरतों को पहचानने के लिए रिसर्च करें और परिवारवालों, सहकर्मियों और मित्रों से भी सलाह लें.

2: एक व्यावसायिक योजना बनाएं – Make a Business Plan

आपके बिज़नेस जीवन की यात्रा बहुत लम्बी होती है और बिना किसी गंतव्य (destination) के आप दिशा भ्रमित हो सकते हैं. व्यावसायिक जीवन में बिज़नेस प्लान का बहुत महत्व है जो आपको अपने लक्ष्य की तरफ बढ़ते समय सही रास्ते पर रहने में सहयोग करता है. यह आपके बिज़नेस को आइडिया से लेकर स्थापना और फिर अंतत: विकास में मार्गदर्शन करेगा. यदि आप किसी निवेशक या वित्तीय संस्थान से वित्तीय सहायता प्राप्त करना चाहते हैं तो बिज़नेस प्लान बनाना बहुत ही आवश्यक है.

3: एक व्यावसायिक संरचना चुनें – Choose a Business Structure

एक व्यावसायिक संरचना का चुनाव बहुत आवश्यक है जो कि सोल प्रोप्राईटरशिप (sole proprietorship), पार्टनरशिप (partnership) या लिमिटेड कंपनी (limited company) हो सकता है. हर संरचना के कुछ फ़ायदे और नुकसान हैं जिसका प्रभाव आपके बिज़नेस के दायित्व (liability) या करों (taxes) पर पड़ता है. एक वकील या अकाउंटेंट के परामर्श से आप बिज़नेस की जटिलता के आधार पर सही संरचना का चुनाव सुनिश्चित कर सकते हैं.

4: बिज़नेस का नाम पंजीकृत करें और ब्रांडिंग करें

आपके बिज़नेस का नाम बहुत से पहलुओं में एक अहम् भूमिका निभाता है इसलिए यह अच्छा होना चाहिये. अपने विकल्पों को अच्छे से आंकते हुए तथा सभी संभावित प्रभावों को सोचते हुए ही नाम का चुनाव करें. जब आप अपने बिज़नेस के लिए एक नाम चुन लेते हैं तो आपको यह जांचना होगा कि क्या यह ट्रेडमार्क किया हुआ है या वर्तमान में उपयोग में तो नहीं है और उसके बाद आपको इसे पंजीकृत कराना होगा. अपने बिज़नेस के नाम का चयन करने के बाद प्रतीक चिन्ह (logo), डोमेन नाम (domain name) , वेबसाइट और सोशल मीडिया पर पेज बनाने का काम शुरू कर दें.

5: अपनी वित्तीय योजनाएं बनायें – Plan Your Finances

आपके बिज़नेस आइडिया पर निर्भर करता है कि बिज़नेस को शुरु करने ले लिए कितने धन की ज़रूरत पड़ सकती है. अपने बिज़नेस के शुरूआती खर्चों का अनुमान लगायें (लाइसेंस और परमिट, उपकरण,सॉफ्टवेयर, कानूनी शुल्क, बीमा, ब्रांडिंग, मार्केट रिसर्च, इन्वेंट्री, ट्रेडमार्किंग, प्रॉपर्टी आदि) और बिज़नेस को कम से कम 12 महीने तक चलाने के लिए पैसों का इन्तजाम जरुर करें. बिज़नेस के लिए कई तरीकों से पूँजी का स्रोत ढूंढ सकते हैं जिसमें खुद की बचत के पैसे, परिवार के लोगों या मित्रों से सहायता, फाइनेंसिंग, वित्तीय संस्थाओं से ऋण, सरकारी अनुदान, एन्जल इन्वेस्टर और क्राउडफंडिंग शामिल हैं.

आप अपने कारोबार को बूटस्ट्रैपिंग (bootstrapping) से शुरू करने की कोशिश करें यानि कि जितना कम से कम पूँजी की ज़रुरत हो उतना ही लगाएं.

6: लाइसेंस, बीमा और परमिट प्राप्त करें – Get Licenses, Insurance and Permits

एक वकील या अकाउंटेंट की सहायता से अपने बिज़नेस पर लागू होने वाले लाइसेंस, बीमा और परमिट का पता कर सकते हैं. आपके द्वारा शुरू किए गए बिज़नेस के प्रकार और आपकी परिस्थिति के अनुसार विभिन्न प्रकार के लाइसेंस और परमिट लागू हो सकते हैं. यदि आप अपना खर्च कम रखना चाहते हैं तो खुद से भी इन्टरनेट पर पढ़ कर या कुछ जानकार लोगों से संपर्क करके इन बातों की जानकारी एकत्रित कर सकते हैं.

7: बिज़नेस सिस्टम और कार्य प्रणाली चुनें – Choose a Business System or Software

आपके बिज़नेस पर निर्भर करता है कि आपको किस तरह के सॉफ्टवेयर या सिस्टम की जरुरत है. आप उसको खुद बनाना चाहते हैं या बाहर से खरीदना चाहते हैं या ऑनलाइन सब्सक्राइब करके उपयोग करना चाहते हैं. आज के दौर में शायद ही कोई बिज़नेस है जिसमें किसी न किसी तरह के सॉफ्टवेयर का उपयोग नहीं होता.

8: अपने बिज़नेस स्थान को स्थापित करें – Set Up Your Business Location

अपनी बिज़नेस संरचना और आइडिया के अनुसार आपको कार्य स्थान का चुनाव करना होगा. घर को ऑफिस बनाएं या एक साझा या निजी कार्यालय लें परन्तु सुनिश्चित करें कि वह स्थान उस प्रकार के बिज़नेस के लिए उपयुक्त है. आपको अपने स्थान, उपकरण और संपूर्ण सेटअप के बारे में सोचना पड़ेगा और आपको यह भी विचार करना होगा कि क्या उस स्थान को खरीदना उपयुक्त है या लीज (lease) करना.

9: अपनी टीम तैयार करें – Get Your Team Ready

यदि आप कर्मचारियों को नियुक्त करना चाहते हैं तो सही समय पर प्रक्रिया शुरू कर दें और उन पदों तथा उनसे जुड़ी जिम्मेदारियों की रूपरेखा अच्छे से बनायें.

यदि आप अकेले ही बिज़नेस कर रहे हैं तो आपको शायद कर्मचारियों की आवश्यकता नहीं पड़े लेकिन फिर भी आपको अपनी सहायता के लिए एक टीम की ज़रूरत पड़ेगी. इस टीम में एक परामर्शदाता (mentor) या आपका परिवार शामिल किया जा सकता है. बिज़नेस का रास्ता चुनौतियों से भरा होता है जिसमें सलाह, प्रेरणा और आश्वासन का बहुत महत्व होता है जिसके लिए एक विश्वसनीय परामर्शदाता (mentor)जरुरी है.

10: एक मार्केटिंग योजना बनायें – Create a Marketing Plan

चाहे आपका बिज़नेस छोटा हो या बड़ा ग्राहकों को आकर्षित करना बहुत महत्वपूर्ण है इसलिए विभिन्न पहलुओं पर विचार करके एक अच्छा मार्केटिंग प्लान बनाना चाहिए. बिज़नेस को प्रभावी ढंग से आगे बढ़ाना बहुत जरुरी है और अपने पास उपलब्ध संसाधनों का भरपूर उपयोग करना चाहिए परन्तु एक अच्छे प्रोडक्ट और उत्तम ग्राहक सेवाओं पर पूरा ध्यान दें क्योंकि एक संतुष्ट ग्राहक आपके बिज़नेस को बढ़ाने के लिए बहुत उपयोगी है.

याद रखिये, बिज़नेस करना अपने आप में एक अलग जीवन शैली है और इसको पूरी तरह अपनाने के लिए मानसिक रूप से तैयार रहना चाहिए. अच्छे से मन लगाकर काम करने से आपके सफल होने की संभावना जरुर बढ़ेगी.

 

हमारे मेलिंग सूची के लिए सब्सक्राइब करें।

सब्सक्राइब करने के लिए धन्यवाद!

कुछ गलत हो गया..


शेयर करें:-
  • 13
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    13
    Shares

कमेन्ट करें